सैय्यदना हज़रत हम्ज़ा रज़ि० का क़ातिल कौन था? क्या हुआ था उसका अंजाम?

शेरे खुदा सैय्यदना हज़रत हम्ज़ा रज़ि० मौलाए कायनात सैय्यदना मुहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम के चचा थे। अहले मक्का में इनके जैसा जाँबाज़ कोई नहीं था। सैय्यदना खालिद बिन वलीद…

Continue Readingसैय्यदना हज़रत हम्ज़ा रज़ि० का क़ातिल कौन था? क्या हुआ था उसका अंजाम?

SAHIH AL BUKHARI 2 – BOOK 1, HADITH 2 ( क़िताबुल वही हदीस नम्बर 2 ) हिंदी में

Sahih Al Bukhari 2 या sahih Al Bukhari Hadith नम्बर 2 में उम्मुल मोमिनीन आयशा सिद्दीक़ा रज़ि ० की रिवायत की हुई हदीसे नबवी नीचे, उर्दू, इंग्लिश, और हिंदी में…

Continue ReadingSAHIH AL BUKHARI 2 – BOOK 1, HADITH 2 ( क़िताबुल वही हदीस नम्बर 2 ) हिंदी में

Sahih Al Bukhari Book 1 Hadith 1 ( क़िताबुल वही हदीस नम्बर 1 ) हिंदी में

हज़रत उम्र इब्ने खत्ताब फरमाते है - उर्दू में : - ہم کو حمیدی نے یہ حدیث بیان کی ، انھوں نے کہا کہ ہم کو سفیان نے یہ حدیث…

Continue ReadingSahih Al Bukhari Book 1 Hadith 1 ( क़िताबुल वही हदीस नम्बर 1 ) हिंदी में

हुरूफ़े मुक़त्तअत | Harf e Muqattat

कुरान पाक की 29 सूरतों के शुरू में इस तरह के हुरूफ़ होते हैं जैसे सूरह बक़र में अलिफ़-लाम-मीम है। इन्हे “हुरूफ़े मुक़त्तअत” कहते हैं। इनके बारे में सबसे खास बात ये…

Continue Readingहुरूफ़े मुक़त्तअत | Harf e Muqattat

अस्मा उल हुस्ना ( अल्लाह के 99 खूबसूरत नाम)

अस्मा उल हुस्ना अल्लाह के खूबसूरत नाम हैं। संरचनात्मक गुण जो वे निरूपित करते हैं वे समद से संबंधित हैं। ये नाम समय और स्थान से परे क्वांटम क्षमता को…

Continue Readingअस्मा उल हुस्ना ( अल्लाह के 99 खूबसूरत नाम)

सूरह आले इमरान हिन्दी में। कुरान शरीफ की सूरह नंबर 3।

सूरह आले इमरान कुरान शरीफ़ की तीसरी सूरह है। सूरह अल बक़र के बाद ये सूरह सबसे बड़ी है। आइये आज हम इसी सूरह का हिन्दी अनुवाद पढ़ते हैं। 3-…

Continue Readingसूरह आले इमरान हिन्दी में। कुरान शरीफ की सूरह नंबर 3।

5 Pillars of Islam in a New Non-religious Context.

इस्लाम क्या है? क्या ये एक धर्म है या फिर जीवन जीने का तरीका? हम सभी जानते हैं कि अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त ने इस्लाम के 5 पिल्लर्स बताये हैं जिन्हे…

Continue Reading5 Pillars of Islam in a New Non-religious Context.

तब्बत यदा अबि लहबिंव वतब्ब। सूरह लहब- हिन्दी में

अल्लाह के नाम पर, सबसे दयालु, सबसे मेहरबान। अबू लहब के दोनों हाथ नाश करो और वह नाश हो! उसकी दौलत और उसकी सन्तान से उसे कोई लाभ नहीं होगा!…

Continue Readingतब्बत यदा अबि लहबिंव वतब्ब। सूरह लहब- हिन्दी में

क़ुरआन शरीफ़ के 30 पारे या जुज़। उनके नाम, रुकू और आयतों की तादाद।

क़ुरआन शरीफ़ अल्लाह का कलाम है। उसकी तिलावत में आसानी के लिए उलेमाओं ने उसे 30 पारे या जुज़ मे तकसीम किया। आइए क़ुरआन शरीफ़ के 30 पारे या जुज़…

Continue Readingक़ुरआन शरीफ़ के 30 पारे या जुज़। उनके नाम, रुकू और आयतों की तादाद।

सबसे पहली नमाज़ किसने अदा की? 5 वक़्त की पहली नमाज़ के पढ़ने वाले सबसे पहले इंसान।

अल्लाह सुबहानहु व ताला ने हम मुसलमानों पर 5 वक्तों की नमाजें फर्ज़ की हैं। और नमाज़ हमें अल्लाह से तोहफे में तब मिली थी जब हमारे प्यारे आक़ा मुहम्मद…

Continue Readingसबसे पहली नमाज़ किसने अदा की? 5 वक़्त की पहली नमाज़ के पढ़ने वाले सबसे पहले इंसान।