Hudallil Muttaqeen – सूरह अल बक़्रह आयत 1 और 2 की तफ़सीर

Hudallil Muttaqeen फरमाया है अल्लाह ताला ने सूरह अल बक़्रह की दूसरी ही आयत हैं। hudallil muttaqeen के माना होते हैं, हिदायत है तकवाकारों को। मुत्तकी कौन होता है? मुत्तकी…

Continue ReadingHudallil Muttaqeen – सूरह अल बक़्रह आयत 1 और 2 की तफ़सीर

Surah Al Baqraha – जानिए क्यों नाज़िल हुई ये 286 आयतों कि सूरत?

Surah Al Baqraha कुरान शरीफ की सबसे बड़ी सूरह है। इस सूरह मे अल्लाह ताला ने इंसानियत के लिए तमाम तरह की हिदायात बख़्शी है। इसे भी पढ़ें - सूरह…

Continue ReadingSurah Al Baqraha – जानिए क्यों नाज़िल हुई ये 286 आयतों कि सूरत?

Siratal Mustakeema – सूरह अल फातिहा की आखिरी 4 आयतों की तफ़्सीर

Siratal Mustakeema पर चलने की तलब के साथ सूरह फातिहा का खात्मा होता है। इस आयत मे अल्लाह से siratal mustakeema पर चलने की दुआ मांगी जाती है। इससे पहले…

Continue ReadingSiratal Mustakeema – सूरह अल फातिहा की आखिरी 4 आयतों की तफ़्सीर

Alhamdu Lillah – सूरह अल फातिहा की पहली 3 आयतों की तफ़सीर

अस्सलाम अलइकूम व रहमत उल्लाह । आज हम सूरह अल फातिहा, अल्हम्दुल्लिल्लाह (Alhamdu Lillah) की तफ़सीर का सिलसिला शुरू करने जा रहे हैं । आप तमामी हजरात से दरख़्वास्त है…

Continue ReadingAlhamdu Lillah – सूरह अल फातिहा की पहली 3 आयतों की तफ़सीर

फ़ज़ीलत बिस्मिल्लाह शरीफ की- Fazeelat Bismillah Shareef Ki

बिस्मिल्लाहिर रहमानिर रहीम (Bismillah Shareef) क़ुरान शरीफ की पहली आयत है। इस आयत की अपनी खुद की बहुत ही फ़ज़ीलत है। आज हम बिस्मिल्लाह शरीफ की फ़ज़ीलत बतफ़सीर बयान की…

Continue Readingफ़ज़ीलत बिस्मिल्लाह शरीफ की- Fazeelat Bismillah Shareef Ki

सूरह अल फ़ातिहा – तार्रुफ और उसके 15 नामे मुबारक

बिरदराने इस्लाम अस्सलाम व अलइकूम। सूरह अल फ़ातिहा क़ुरान शरीफ की बहुत ही अज़ीम तरीन सूरह है. इस सूरह के बहुत से फ़ज़ाइल हैं । और आज हम उन्ही फ़ज़ीलतों…

Continue Readingसूरह अल फ़ातिहा – तार्रुफ और उसके 15 नामे मुबारक