सूरह आले इमरान हिन्दी में। कुरान शरीफ की सूरह नंबर 3।

सूरह आले इमरान कुरान शरीफ़ की तीसरी सूरह है। सूरह अल बक़र के बाद ये सूरह सबसे बड़ी है। आइये आज हम इसी सूरह का हिन्दी अनुवाद पढ़ते हैं। 3-…

Continue Readingसूरह आले इमरान हिन्दी में। कुरान शरीफ की सूरह नंबर 3।

तब्बत यदा अबि लहबिंव वतब्ब। सूरह लहब- हिन्दी में

अल्लाह के नाम पर, सबसे दयालु, सबसे मेहरबान। अबू लहब के दोनों हाथ नाश करो और वह नाश हो! उसकी दौलत और उसकी सन्तान से उसे कोई लाभ नहीं होगा!…

Continue Readingतब्बत यदा अबि लहबिंव वतब्ब। सूरह लहब- हिन्दी में

सूरह नास – तार्रुफ़, तफ़सीर और फ़ज़ाईल

अस्सलाम व अलैकुम व रहमत उल्लाह। मेरे प्यारे दोस्तो मैं आपका फिर से इसतेकबाल करता हूँ। आज हम कुरान शरीफ की सबसे आखिरी सूरह, सूरह नास के बारे में ज़िक्र…

Continue Readingसूरह नास – तार्रुफ़, तफ़सीर और फ़ज़ाईल

Surah Falaq in Hindi- 5 ayaton ka Tarruf, Tarjuma aur Tafseer

Surah Falaq quran sharif की 113वीं सूरत है। surah falaq, मशहूर चारों कुल में से एक कुल है। इस सूरह में अल्लाह ताला अपने बन्दों को हर तरह के वसवसों…

Continue ReadingSurah Falaq in Hindi- 5 ayaton ka Tarruf, Tarjuma aur Tafseer

Surah Al Baqrah Verse 8 – Tarjuma and Tafseer in Hindi

Surah Al Baqrah Verse 8 के ज़रिये अल्लाह ताला इंसानो को ये हिदायत देना चाहता है कि अगर इस्लाम में दाखिल हो रहे हो तो पूरी तरह से हो जाओ।…

Continue ReadingSurah Al Baqrah Verse 8 – Tarjuma and Tafseer in Hindi

ख़तमल्लाहो अला कुलूबेहिम (Khatamallaho Alaa Quloobehim)- सूरह अल फ़ातिहा आयात 7 की तफ़सीर

"Khatamallaho alaa Quloobehim wa alaa sam-e-him, wa ala absarehim gisawatunv walahum azaabun azeem."Surah Al Baqrah Verse 7 "खतमल्लाहो अला कुलूबेहिम व अला सम-एहिम, व अला अब्सारेहिम गीसावतुन्व, वलहुम आज़ाबुन अज़ीम"…

Continue Readingख़तमल्लाहो अला कुलूबेहिम (Khatamallaho Alaa Quloobehim)- सूरह अल फ़ातिहा आयात 7 की तफ़सीर

Innallazeena Kafaroo- सूरह अल बक़्रह आयत 6 की तफ़सीर

"Innallazeena Kafaroo sawaaun alaihim a anzarta hum am lam tunzir hum la yoominoon."Surah Al Baqraha Verse 6 "इन्नल्लजीना कफ़रू सवाऊन अलैहिम अ अंजरतहुम अम लम तुंज़िर हुम ला यूमीनून" तर्जुमा…

Continue ReadingInnallazeena Kafaroo- सूरह अल बक़्रह आयत 6 की तफ़सीर

तफ़सीरुल कुरान : सूरह अल बक़्रह आयत 4 और 5 | Tafseerul Quran: Surah Al Baqraha Ayat 4 &

"wallazeena yoominoona bima unzila ilaika wama unzila min qablik, wabil aakhirate hum yooqinoon"Surah al baqraha Verse 4 " वल्लज़ीना यूमीनूना बिमा उंज़ेला इलैका वमा उंज़ेला मिन क़ब्लिक, वबिल आखिरते हुम…

Continue Readingतफ़सीरुल कुरान : सूरह अल बक़्रह आयत 4 और 5 | Tafseerul Quran: Surah Al Baqraha Ayat 4 &

Yoominoona Bilgayeeb – तफ़सीरे अल बक़्रह आयत 3

अल्लाह ताला फरमाता है Yoominoona Bilgayeeb. जिसके माना होते हैं बिना देखे ईमान लाना। यहाँ पर अल्लाह ताला उन लोगों के वस्फ़ बयान करता है जो बिना किसी शक या…

Continue ReadingYoominoona Bilgayeeb – तफ़सीरे अल बक़्रह आयत 3

Hudallil Muttaqeen – सूरह अल बक़्रह आयत 1 और 2 की तफ़सीर

Hudallil Muttaqeen फरमाया है अल्लाह ताला ने सूरह अल बक़्रह की दूसरी ही आयत हैं। hudallil muttaqeen के माना होते हैं, हिदायत है तकवाकारों को। मुत्तकी कौन होता है? मुत्तकी…

Continue ReadingHudallil Muttaqeen – सूरह अल बक़्रह आयत 1 और 2 की तफ़सीर