क़ुरआन शरीफ़ के 30 पारे या जुज़। उनके नाम, रुकू और आयतों की तादाद।

क़ुरआन शरीफ़ अल्लाह का कलाम है। उसकी तिलावत में आसानी के लिए उलेमाओं ने उसे 30 पारे या जुज़ मे तकसीम किया। आइए क़ुरआन शरीफ़ के 30 पारे या जुज़ के बारे में जानते हैं। सबसे पहले आपको बता दें कि क़ुरआन शरीफ़ एक मुकम्मल किताब है और वो आयतों के रूप में नाज़िल हुई … Read more

सबसे पहली नमाज़ किसने अदा की? 5 वक़्त की पहली नमाज़ के पढ़ने वाले सबसे पहले इंसान।

अल्लाह सुबहानहु व ताला ने हम मुसलमानों पर 5 वक्तों की नमाजें फर्ज़ की हैं। और नमाज़ हमें अल्लाह से तोहफे में तब मिली थी जब हमारे प्यारे आक़ा मुहम्मद (स०) मेराज पर गए। ये पाँच वक़्त कैसे तय हुए और उन पांचों वक़्तों की पहली नमाज़ किसने पढ़ी? आइये इस छोटी सी कोशिश से … Read more

सूरह अल बक़र हिन्दी में ( 286 हिदायत वाली आयतें)

सूरह अल बक़र कुरान शरीफ की सबसे बड़ी सूरह है। इस सूरह मे अल्लाह ताला ने इंसानियत के लिए तमाम तरह की हिदायात बख़्शी है। वैसे कुरआन शरीफ हो अरबी में ही पढ़ना चाहिए मगर कुछ लोग जो अरबी नहीं जानते या पढ़ लेते हैं मगर उसका तर्जुमा नहीं निकाल पाते उनके लिए पेश है … Read more

क़ुरान में रमज़ान का ज़िक्र। 5 आयतों की दलील के साथ।

रमज़ान वो मुक़द्दस महीना है जिसमें पाक क़ुरान नाज़िल हुआ था। और इसी क़ुरान में रमज़ान का ज़िक्र कई जगह पर आता है। इस महीने का आगाज़ रूह की तलाश, अल्लाह से अक़ीदत और बदलाव के दौर के आग़ाज़ की निशानदेही होने लगती हैं। रोज़ा रखने के बहुत से फायदे हैं। और सबसे बड़ा सच … Read more

नमाज़े तरावीह क्या है? 20 रकात की कियामुल लैल का तरीका और दुआ।

जैसा आप सभी को पता है रमज़ान आने वाला है। रमज़ान की आमद के साथ ही अल्लाह की रहमतों की बारिश और तेज़ हो जाती है। इस बारिश से अपने आपको शैराब करने के लिए नमाज़े तरावीह बहुत ही अच्छा जरिया निकल कर आता है। आख़िर नमाज़े तरावीह है क्या? और क्या है तरीक़ा नमाज़े … Read more

कुरआन अल्लाह की किताब (6236 आयतों का बेहतरीन संकलन)

कुरआन अल्लाह की किताब है। वह अपनी मूल अरबी भाषा में पूर्णतः सुरक्षित है। ऐसी एक किताब का अनुवाद कभी मूल किताब का विकल्प नहीं बन सकता। कुरआन के अनुवाद का उद्देश्य उसको बोधगम्य बनाना है, परन्तु इसका यह अर्थ नहीं कि जो व्यक्ति अरबी भाषा न जानता हो, वह कुरआन को समझ नहीं सकता। … Read more

3 किस्में इन्सानों की जो कुरान ने बयान की। आप किस किस्म के हो?

इंसान जिसे अल्लाह सुबहानहु व ताला ने अशरफुल मख़लूक बनाया है। उसे अक़ल दी जिससे वो सोच सके समझ सके। इसी अक़ल की वजह से इंसान अपनी अकाईद चुनता है और ये फैसले करता है कि वो किस की जिंदगी जीएगा। अक़ीदा, ये किस चिड़िया का नाम है? अजी, अक़ीदा, इसे आप भरोसा कह सकते … Read more

5 लाजवाब तरीकों से रमज़ान में भूख पर क़ाबू करें। (5 Amazing Tips to Control Hunger In Ramadan)

जैसा कि आप सभी को है, Ramadan Kareem आने वाला है। और Ramadan में खान और पीना दोनों छोड़ना पड़ता है। मतलब, भूखा रहना पड़ता है। तो ऐसी हालत में कैसे रमज़ान में भूख पर क़ाबू करें? जबकि आप को भूख का एहसास किसी भी वक़्त हो सकता है, फिर चाहे, सुबह हो, दोपहर हो, … Read more

Charity in Ramadan Kareem- रमज़ान में सदकात की अहमियत

इस्लाम हमें सिखाता है कि सदका करने से उसके साथ हमें बेहतर सवाब मिलता है। Charity in Ramadan Kareem मोमिनीन के लिए एक मौका होता हैं कि वो अपना हाथ बढ़ाएँ और ज़रूरतमंदों कि मदद करें। Charity मोमिन का साया हमारे नबी मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो ताला अलैहि वसल्लम ने इरशाद फरमाया- क़यामत के दिन मोमिन … Read more

Taraweeh in Ramadan Kareem (5 Most Beneficial Reasons to Pray) (हिन्दी में)

Taraweeh in Ramadan Kareem माहे Ramadan की सबसे अहम अशियायों में से एक है। रोज़ा रहने के अलावा और गुनाहों से दूर रहने के अलावा एक और बहुत बरकत वाली चीज़ अल्लाह रब्बुल इज्ज़त ने इस महीने में दी है और वो है taraweeh in Ramadan Kareem. हालांकि, तरावीह को पूरे महीने एक ही जोश … Read more