ग़सीलुल मलाइका हज़रत हन्ज़ला रज़ि ०

रूए ज़मीन पर बहुत सी खुशनसीब हस्तियाँ पैदा हुई हैं जिन्हे अल्लाह रब्बे करीम ने अपने बेशुमार करम से नवाज़ा है। उनमें भी सबसे खुशनसीब हस्तिया वो है जिन्होंने हमारे…

Continue Readingग़सीलुल मलाइका हज़रत हन्ज़ला रज़ि ०

सैय्यदना हज़रत हम्ज़ा रज़ि० का क़ातिल कौन था? क्या हुआ था उसका अंजाम?

शेरे खुदा सैय्यदना हज़रत हम्ज़ा रज़ि० मौलाए कायनात सैय्यदना मुहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम के चचा थे। अहले मक्का में इनके जैसा जाँबाज़ कोई नहीं था। सैय्यदना खालिद बिन वलीद…

Continue Readingसैय्यदना हज़रत हम्ज़ा रज़ि० का क़ातिल कौन था? क्या हुआ था उसका अंजाम?

सबसे पहली नमाज़ किसने अदा की? 5 वक़्त की पहली नमाज़ के पढ़ने वाले सबसे पहले इंसान।

अल्लाह सुबहानहु व ताला ने हम मुसलमानों पर 5 वक्तों की नमाजें फर्ज़ की हैं। और नमाज़ हमें अल्लाह से तोहफे में तब मिली थी जब हमारे प्यारे आक़ा मुहम्मद…

Continue Readingसबसे पहली नमाज़ किसने अदा की? 5 वक़्त की पहली नमाज़ के पढ़ने वाले सबसे पहले इंसान।

जंगे खंदक का एक ईमान अफ़रोज वाक्या

अस्सलाम अलैकुम व रहमत उल्लाह! दौरे नबूवत में बहुत से जंगे हुईं और उन सभी जंगों की अपनी-अपनी अहमियत है। हर उन जंगों मे जिसमे नबीए पाक खुद शरीक थे…

Continue Readingजंगे खंदक का एक ईमान अफ़रोज वाक्या

जंगे उहुद की 10 अहम बातें

मुस्लिमों के वार से तिलमिलाए हुए कुरऐश के बदले की जंग थी जंगे उहुद। जंगे उहुद की तारीख से लगभग एक साल पहले जंगे बद्र में 313 मुस्लिमों ने मिलकर…

Continue Readingजंगे उहुद की 10 अहम बातें