इंसान जिसे अल्लाह सुबहानहु व ताला ने अशरफुल मख़लूक बनाया है। उसे अक़ल दी जिससे वो सोच सके समझ सके। इसी अक़ल की वजह से इंसान अपनी अकाईद